Skip to main content

Posts

Showing posts from January 18, 2020

Child Development And Pedagogy for Teaching Entrance exams

Child Development and Pedagogy for Supertetबालविकास एवं शिक्षाशास्त्र

Important Child Development and Pedagogy Oneliner Facts

=>मनोविज्ञान के जनक = विलियम जेम्स =>आधुनिक मनोविज्ञान के जनक=विलियम जेम्स =>प्रकार्यवाद साम्प्रदाय के जनक=विलियम जेम्स =>आत्म सम्प्रत्यय की अवधारणा= विलियम जेम्स =>शिक्षा मनोविज्ञान के जनक=थार्नडाइक =>प्रयास एवं त्रुटिसिद्धांत= थार्नडाइक =>प्रयत्न एवं भूल का सिद्धांत = थार्नडाइक =>संयोजनवाद का सिद्धांत = थार्नडाइक =>उद्दीपन-अनुक्रिया का सिद्धांत = थार्नडाइक =>S-R थ्योरी के जन्मदाता= थार्नडाइक =>अधिगम का बन्ध सिद्धांत = थार्नडाइक =>संबंधवाद का सिद्धांत= थार्नडाइक =>प्रशिक्षण अंतरण का सर्वसम अवयव का सिद्धांत = थार्नडाइक =>बहु खंड बुद्धि का सिद्धांत= थार्नडाइक => बिने-साइमन बुद्धि परीक्षण के प्रतिपादक = बिने एवं साइमन =>बुद्धि परीक्षणों के जन्मदाता =बिने =>एक खंड बुद्धि का सिद्धांत =बिने =>दो खंड बुद्धि का सिद्धांत =स्पीयरमैन =>तीन खंड बुद्धि का सिद्धांत=स्पीयरमैन =>सामान्य व विशिष्ट तत्वों के सिद्धांत के प्रतिपादक = स्पीयरम…

Child Development and Pedagogy - बालविकास एवं शिक्षाशास्त्र

Child Development and Pedagogy for UPTET, SUPERTET, KVS, REETबालविकास एवं शिक्षाशास्त्र प्रमुख सिद्धान्त
1. प्रयत्न एवं भूल का सिद्धान्त
अन्य नाम:- उद्दीपन अनुक्रिया सिद्धान्त, अधिगम का बंध सिद्धान्त, एसआर थ्योरी, संबंधवादी, व्यवहारवादी
प्रवर्तक:- एडवर्ड ली थार्नडाइक, अमेरिका बिल्ली पर प्रयोग
यह सिद्धान्त अभ्यास द्वारा सीखने पर बल देता है। यह गणित और विज्ञान के लिए उपयोगी सिद्धान्त है। इसमें त्रुटियों का निराकरण पर बल दिया जाता है।
2. अनुकूलित अनुक्रिया सिद्धान्त
अन्य नाम:- प्राचीन अनुबंध का सिद्धान्त, शास्त्रीय अनुबंध का सिद्धान्त, संबंद्ध प्रतिक्रिया का सिद्धान्त, कंडीशनल रिस्पोंस थ्योरी
प्रवर्तक:- इवान पैट्रोविच, रूस कुत्ता पर प्रयोग
यह सिद्धान्त कहता है कि आदतों का निर्माण कृत्रिम उद्दीपकों से संबंद्ध प्रतिक्रिया द्वारा होता है। इसी सिद्धान्त से सम्बद्ध प्रतिवर्त (सहज) विधि का जन्म हुआ। यह सिद्धांत भाषा विकास, मनोवृतियों का निर्माण, बुरी आदतों से छुटकारा पाना, सुलेख, अक्षर विन्यास जैसे विषयों में उपयोगी है। इस सिद्धांत के तहत छोटे बच्चों को वस्तुएं दिखाकर शब्दों का ज्ञान कराया जाता है।
3. अंत…